Press "Enter" to skip to content

राज्यसभा सांसद रघुनाथ मोहपात्रा के पूरे परिवार को कालने गले लागाली

जाने माने मूर्तिकार और राज्यसभा सांसद रघुनाथ महापात्रा का कोरोना महामारी के कारण निधन हो गया है. उनके तीन बेटों का भी देहांत हो चुका है। जानिए कैसे सत्यता की कमी आपको विनाश का कारण बनाती है।

राज्यसभा सांसद रघुनाथ महापात्रा का 9 मई को कोरोना महामारी के कारण निधन हो गया। पुरी में जन्मे रघुनाथजी ओडिशा के प्रसिद्ध मूर्तिकार थे और उन्होंने अपने जीवनकाल में कई मूर्तियों और मंदिरों का निर्माण किया। उनके दोनों बेटों की भी इस महामारी से मौत हो गई।

उनके एक बेटे की पहले ही मौत हो चुकी है। रघुनाथ जी का पूरा जीवन भगवान को समर्पित था, लेकिन सत्यता का पूर्ण अभाव था। रघुनाथ जी पत्थर का दूसरा कोणार्क मंदिर बनाना चाहते थे। रघुनाथ जी के निधन पर प्रधानमंत्री मोदी ने कई राजनेताओं के साथ शोक जताया है.

रघुनाथ महापात्रा के बड़े बेटे जशोवंत महापात्रा (उम्र 52 साल) का 20 मई 2021 को और क्रिकेटर प्रशांत महापात्रा के दूसरे बेटे (उम्र 47) की 19 मई 2021 को भुवनेश्वर में कोरोना से मौत हो गई. क्रिकेट प्रशांत महापात्रा ओडिशा की रणजी टीम के कप्तान और बीसीसीआई के रेफरी भी रह चुके हैं।

रघुनाथ महापात्रा के सबसे छोटे बेटे की चार साल पहले सड़क हादसे में मौत हो गई थी।

विस्तृत में पढ़े 

Share to World
More from दुनियाMore posts in दुनिया »

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.